Loading...

Monthly Archives: September 2020

Hawamahal Vol-20

Posted on by parag

Library Khidki Vol-17

Posted on by parag

उड़ते पंख

Posted on by parag

“अगर मैं पंछी होती-
तो उड़ जाती l
गाँव से दूर।
कहीं और।
कहीं ऐसी जगह जहाँ मैं जैसी हूँ वैसी रह सकूँ।”