Loading...

गुरबचन सिंह ने चार दशक तक सार्वजनिक स्कूली शिक्षा में काम किया है। इस दौरान राज्य संसाधन केन्द्र, भोपाल के निदेशक रहे हैं। टीकमगढ़ के बाल साहित्य केन्द्र के संस्थापक सदस्य है। इस संस्था से दो दशक तक जुड़े रहे हैं। शैक्षिक पलाश और बच्चों की पत्रिका गुल्लक के सम्पादक रहे हैं। बाल साहित्य में विशेष रुचि है और इसे बच्चों और किशोरों की अच्छी शिक्षा में अनिवार्य अवयव के रूप में देखते हैं। फ़िलहाल अज़ीम प्रेमजी विश्वविद्यालय द्वारा शिक्षा पर प्रकाशित पत्रिका ‘पाठशाला भीतर और बाहर’ के कार्यकारी सम्पादक हैं।